Work and Energy

कार्य एवं ऊर्जा

कार्य-  बल और बल के अनुप्रस्थ बिंदु द्वारा बल की दिशा में तय की गई दूरी के गुणनफल को बल के द्वारा किया गया कार्य कहलाता है
अर्थात कार्य = बल x बल की दिशा में तय की गई दूरी
बोल एवं विस्थापन दोनों सदिश राशियां हैं पर कार्य अदिश राशि है कार्य का मात्रक सीजीएस CGS पद्धति में अर्ग होता है कार्य का मात्रक एस आई  S I पद्धति में जूल होता है
एक जूल =10^7 अर्ग
FPS (फूट, पाउंड कार्य का मात्रक है)
1 फुट फाउंड 1.375 जूल होता है

ऊर्जा – कार्य करने की क्षमता को ऊर्जा कहते हैं उर्जा का वही मात्रक होता है जो कार्य का मात्रक होता है और कार्य की भांति यह भी एक अदिश राशि है

गतिज ऊर्जा- गति के कारण जो ऊर्जा उत्पन्न होती है उसे गतिज ऊर्जा करते हैं गतिज ऊर्जा को K द्वारा सूचित किया जाता है

अर्थात K = 1/2mV^2 होता है

स्थितिज ऊर्जा-  किसी वस्तु में उसकी स्थिति आकृति में परिवर्तन के कारण जो ऊर्जा उत्पन्न होती है उसे स्थितिज ऊर्जा करते हैं
स्थितिज ऊर्जा- Rp=W=mgh

यांत्रिक ऊर्जा- गतिज ऊर्जा एवं स्थितिज ऊर्जा को एक साथ लेने पर जो ऊर्जा प्राप्त होती है वह यांत्रिक ऊर्जा कहलाती है

कार्य- ऊर्जा प्रमेय– किसी वस्तु पर लगे परिणामी बल द्वारा किया गया कार्य वस्तु की गतिज ऊर्जा में परिवर्तन के बराबर होता है

शक्ति – कार्य करने की दर अर्थात प्रति इकाई समय में किए गए कार्य को शक्ति कहते हैं

अर्थात शक्ति = किया गया कार्य /लगा समय

P= FS/t

ऊर्जा संरक्षण का सिद्धांत

ऊर्जा न तो उत्पन्न की जा सकती है और ना ही नष्ट की जा सकती है किंतु ऊर्जा का रूपांतरण एक रूप से दूसरे रूप में किया जा सकता है

जैसे नीचे दिए गए हैं

ऊर्जा का रूपांतरण

भौतिक जगत में सभी प्रक्रियाओं में किसी न किसी प्रकार ऊर्जा का एक या अधिक रूपों में रूपांतरण होता रहा है ऊर्जा रूपांतरण का नियम वाॅन-हैल्मोट्ज नामक वैज्ञानिक ने दिया था इस नियम के अनुसार ऊर्जा को न तो उत्पन्न किया जा सकता है और ना ही समाप्त किया जा सकता है इसे केवल एक रूप से दूसरे रूप में परिवर्तित किया जा सकता है

जैसे

विद्युत बल्ब = विद्युत ऊर्जा से ऊष्मा एवं प्रकाश ऊर्जा

विद्युत सेल =  रासायनिक ऊर्जा से विद्युत ऊर्जा

मोमबत्ती = रासायनिक ऊर्जा से प्रकाश एवं ऊष्मा ऊर्जा

फोटोइलेक्ट्रिक सेल = प्रकाश ऊर्जा से विद्युत ऊर्जा

डायनेमो = यांत्रिक ऊर्जा से विद्युत ऊर्जा

मोटर = विद्युत ऊर्जा से यांत्रिक ऊर्जा

लाउडस्पीकर =  विद्युत ऊर्जा से ध्वनि ऊर्जा

माइक्रोफोन = ध्वनि ऊर्जा से विद्युत ऊर्जा

सितार = यांत्रिक ऊर्जा से ध्वनि ऊर्जा

इंजन ऊष्मा = ऊर्जा से यांत्रिक ऊर्जा

Leave a Reply